mustard farming

जाने कैसे की जाती...

सरसों पंजाब की मुख्य तेल बीज फसलों में से एक है। सरसों जाति की फसलें जैसे कि तोरिया, गोभी सरसों और तारामीरा को व्यापारिक आधार पर रेपसीड माना जाता है,...

कॉन्ट्रैक्ट फार...

कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक ऐसी व्यवस्था है जहां कृषि उत्पादों का उत्पादन और उनकी बिक्री एक कॉन्ट्रैक्ट के अधीन की जाती है जो कि किसान, आपूर्तिकर्ता और उत्पादक में होती है।...

rice diseases hi

धान में कैसे करें...

यह समय धान की फसल के लिए बहुत नाजुक होता है, इस समय धान निसरना शुरू करता है और अधिक बीमारी का हमला होने का यह अनुकूल समय होता है,...

soyabean farming hi

कैसे की जा सकती ह...

सोयाबीन को गोल्डन बीन भी कहा जाता है, जोकि फलीदार प्रजाति से संबंध रखती है। यह प्रोटीन के साथ साथ रेशे का भी अच्छा स्रोत है। किसानों को सोयाबीन की...

green fodder crops hi

पशुओं के लिए सही ...

दुधारू पशुओं के लिए हरा चारा एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्योंकि यह स्वास्थ्य रखरखाव और दूध उत्पादन के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। मुख्य रूप से भेड़,...

tomato farming1

कैसे की जाती है प...

उत्तरी राज्यों में, बसंत के समय टमाटर की पनीरी नवंबर के आखिर में बोयी जाती है और जनवरी के दूसरे पखवाड़े में खेत में लगाई जाती है। पतझड़ के समय...

carrot crop

कैसे फायदेमंद है ...

गाजर का इस्तेमाल सलाद और सब्जियों दोनों में किया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। लाल गाजर में लाइकोपीन होता है और काली गाजर में...

pumpkin crop hi

कद्दू जाती की फसल...

कद्दू जाति की फसलों में कीड़ें और बिमारियों का हमला फसल की पैदावार को नुकसान पहुंचाते हैं और अगर समय पर इनका समाधान न किया जाए तो यह बहुत नुक्सान...

माल्टे की बीमारियां और उनकी रोकथाम

माल्टे की बीमारि...

पंजाब में नींबू जाति के फल जिनमें किन्नू, माल्टा, ग्रेपफ्रूट और गलगल शामिल है, का मुख्य आर्थिक महत्त्व है। रकबे और पैदावार के हिसाब से किन्नू पहले नंबर पर और...

pulses-hi

गर्मी के मौसम में...

गेहूं और धान के फसली चक्र के अलावा किसानों को दालों की बिजाई की तरफ ध्यान देना चाहिए। किसान हर वर्ष फरवरी से जून महीनों के दरमियान आलू और मटर...

yellow-rust

क्या हैं गेहूं के...

आज के समय में गेहूं पीला पड़ने के कई कारण हैं जिसमे तत्व की कमी या उन तत्व की कमी को पूरा करने के लिए खाद डालने के समय की...

farm-laws-hi

खेतीबाड़ी कानून 2020...

संसद के बाद कृषि से संबंधित कानून पास करने के बाद पूरे भारत में हंगामा छाया हुआ है। कानूनों का विरोध करने के लिए लाखों की संख्या में किसान (30...


green fodder crops hi

पशुओं के लिए सही ...

दुधारू पशुओं के लिए हरा चारा एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्योंकि यह स्वास्थ्य रखरखाव और दूध उत्पादन के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। मुख्य रूप से भेड़,...

barseem varieties

रबी में हरे चारी ...

रबी के चारे की बिजाई सितंबर-अक्तूबर के महीनों में की जाती है, पंजाब प्रांत में रबी में चारे की फसलों की खेती 361 लाख हैक्टेयर में की जाती है। जिसमें...

animal identification hi

पशु की पहचान रखन...

पशु पालक किसान अपने पशुओं की कीमत जानते हैं, क्योंकि अपनी रोज़ाना की जरूरतों को पूरा करने के लिए वह इस पर निर्भर हैं। तो ऐसे में यह जरुरी हो...

piggery business hi

सुअर पालन को एक स...

मीट और पोल्ट्री उद्योग दुनिया के बड़े और मुनाफे वाले उद्योगों में से एक है, क्योंकि इसकी मांग हमेशा ज़्यादा होती है। अब यदि बात करें तो दुनिया में सबसे...

animals importantance_hd

पशुओं का कृषि में...

सदियों से मनुष्य किसी न किसी तरीके से पशुओं पर निर्भर है। पुराने समय से ही मनुष्य पशुओं को सीधे या असिधे तरीके से प्रयोग में ला रहे हैं। यदि...

पशु

गाभिन पशुओं के लि...

ब्याने वाले पशुओं की सेहत को ध्यान में रखते हुए उनके लिए बढ़िया शेड और कमरे की ज़रूरत होती है। रौशनी, पानी और ताजी हवा आने और जाने का प्रबंध...

फीड

ऐसी मशीनरी जो कम ...

पशु पालन के व्यवसाय में खुराक का सीधे तौर पर संबंध है, यदि दूध वाले पशु की बात की जाए तो सबसे अधिक महत्व खुराक का होता है। खुराक यदि घर...

मुर्गियों में प्...

जनन जीवों कीं एक जैविक क्रिया है जिसमें नर व मादा के सह्वास के फल स्वरूप नये जीव की उत्पत्ति होती है। नर के शुक्राणु तथा मादा के अंडाणु के...

cattle

जानें पशु पालन मे...

पशु पालन में रखी जाने वाली सावधानियां निम्नलिखत अनुसार हैं: • पशु को जहां तक संभव हो हरा चारा देना चाहिए। • पशुओं को जहां तक हो सके नाल से...

ऐसी बीमारी जो पशु...

ज्यादा दूध की पैदावार वाली गायें और भैंसे एक ऐसी बीमारी का शिकार हो सकती हैं जो ब्याने के कुछ दिनों के बाद ही हो जाती है। अधिकतर ताजे ब्याए...

birth of dogs

पिल्ले के जन्म सम...

नए जन्मे पिल्लों की विशेष देखभाल बहुत ज़रूरी है। इसलिए पिल्ले के जन्म के समय कुछ बातों का ध्यान रखने से, आने वाले समय में पिल्ले को कोई मुश्किल नहीं...

animal feed

सावधान! आपके पशुओ...

पशुओं की खुराक को सही तरीके से खिलाने के साथ-साथ यह बात सुनिश्चित कर लें कि फीड सही चीज़ों को मिक्स करके बनी है या नहीं। क्योंकि आज कल बहुत...


फीड

ऐसी मशीनरी जो कम ...

पशु पालन के व्यवसाय में खुराक का सीधे तौर पर संबंध है, यदि दूध वाले पशु की बात की जाए तो सबसे अधिक महत्व खुराक का होता है। खुराक यदि घर...

मशीनरी

बागवानी के लिए उप...

बागवानी के काम में सुधार लाने और सख्त मेहनत कम करने के लिए बागों के मशीनीकरण पर ज़ोर दिया जा रहा है। बागों के मशीनीकरण के लिए एग्रिकल्चरल यूनिवर्सिटी लुधियाना...

pump

लिफ्ट सिंचाई पम्...

• ISI चिन्ह वाले फुटवालव का प्रयोग करें, जिनका मुँह ज़्यादा खुला हो, ताकि पानी का प्रवाह बेहतर हो और डीज़ल की खपत कम हो। • अधिक व्यास की पाइप...

gobar

जानें कैसे काम कर...

किसी भी प्लांट के 5 भाग होते हैं इन्हीं 5 भागों से होकर पूरी प्रक्रिया होती है। • इनलेट टैंक • डाइजेस्टर वेस्सल • डोम • आउटलेट चैंबर • कंपोस्ट...

animal milk

मशीन के द्वारा दू...

डेयरी फार्म यदि बड़े स्तर पर किया जाता है तो उसमें मशीन द्वारा दूध निकालने से समय की बहुत बचत हो जाती है। इसके अलावा हाथ से दूध निकालने में...

ट्रैक्टरों में ड...

•  जब भी रूकें, तो इंजन बंद कर दें। बिना काम के इंजन चालू रहने से प्रति घंटा एक लीटर से भी ज्यादा डीज़ल व्यर्थ जाता है। • ईंधन टैंक,...

जानें कैसे काम कर...

किसी भी प्लांट के 5 भाग होते हैं इन्हीं 5 भागों से होकर पूरी प्रक्रिया होती है। • इनलेट टैंक • डाइजेस्टर वेस्सल • डोम • आउटलेट चैंबर • कंपोस्ट...

कैसे काम करती है ...

वर्तमान समय में यदि किसान खुद अपनी फसल उगाकर स्वंय प्रोसेसिंग करके मार्किट में लाकर बेचे तो अच्छा मुनाफा लिया जा सकता है। कुछ जिलों के कृषि विज्ञान केंद्र के...

mustard farming

जाने कैसे की जाती...

सरसों पंजाब की मुख्य तेल बीज फसलों में से एक है। सरसों जाति की फसलें जैसे कि तोरिया, गोभी सरसों और तारामीरा को व्यापारिक आधार पर रेपसीड माना जाता है,...

कॉन्ट्रैक्ट फार...

कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक ऐसी व्यवस्था है जहां कृषि उत्पादों का उत्पादन और उनकी बिक्री एक कॉन्ट्रैक्ट के अधीन की जाती है जो कि किसान, आपूर्तिकर्ता और उत्पादक में होती है।...

rice diseases hi

धान में कैसे करें...

यह समय धान की फसल के लिए बहुत नाजुक होता है, इस समय धान निसरना शुरू करता है और अधिक बीमारी का हमला होने का यह अनुकूल समय होता है,...

soyabean farming hi

कैसे की जा सकती ह...

सोयाबीन को गोल्डन बीन भी कहा जाता है, जोकि फलीदार प्रजाति से संबंध रखती है। यह प्रोटीन के साथ साथ रेशे का भी अच्छा स्रोत है। किसानों को सोयाबीन की...

tomato farming1

कैसे की जाती है प...

उत्तरी राज्यों में, बसंत के समय टमाटर की पनीरी नवंबर के आखिर में बोयी जाती है और जनवरी के दूसरे पखवाड़े में खेत में लगाई जाती है। पतझड़ के समय...

carrot crop

कैसे फायदेमंद है ...

गाजर का इस्तेमाल सलाद और सब्जियों दोनों में किया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। लाल गाजर में लाइकोपीन होता है और काली गाजर में...

pumpkin crop hi

कद्दू जाती की फसल...

कद्दू जाति की फसलों में कीड़ें और बिमारियों का हमला फसल की पैदावार को नुकसान पहुंचाते हैं और अगर समय पर इनका समाधान न किया जाए तो यह बहुत नुक्सान...

माल्टे की बीमारियां और उनकी रोकथाम

माल्टे की बीमारि...

पंजाब में नींबू जाति के फल जिनमें किन्नू, माल्टा, ग्रेपफ्रूट और गलगल शामिल है, का मुख्य आर्थिक महत्त्व है। रकबे और पैदावार के हिसाब से किन्नू पहले नंबर पर और...

pulses-hi

गर्मी के मौसम में...

गेहूं और धान के फसली चक्र के अलावा किसानों को दालों की बिजाई की तरफ ध्यान देना चाहिए। किसान हर वर्ष फरवरी से जून महीनों के दरमियान आलू और मटर...

yellow-rust

क्या हैं गेहूं के...

आज के समय में गेहूं पीला पड़ने के कई कारण हैं जिसमे तत्व की कमी या उन तत्व की कमी को पूरा करने के लिए खाद डालने के समय की...

farm-laws-hi

खेतीबाड़ी कानून 2020...

संसद के बाद कृषि से संबंधित कानून पास करने के बाद पूरे भारत में हंगामा छाया हुआ है। कानूनों का विरोध करने के लिए लाखों की संख्या में किसान (30...

crop-prevention-hi

पक्षियों के नुक्...

पंजाब में मिलने वाले 300 किस्म के पक्षियों में से कुछ ही फसलों और फलों का और गोदामों, शैलरों और मंडियों में दाने को नुक्सान करते हैं। इस ब्लॉग के...


माल्टे की बीमारियां और उनकी रोकथाम

माल्टे की बीमारि...

पंजाब में नींबू जाति के फल जिनमें किन्नू, माल्टा, ग्रेपफ्रूट और गलगल शामिल है, का मुख्य आर्थिक महत्त्व है। रकबे और पैदावार के हिसाब से किन्नू पहले नंबर पर और...

farm-laws-hi

खेतीबाड़ी कानून 2020...

संसद के बाद कृषि से संबंधित कानून पास करने के बाद पूरे भारत में हंगामा छाया हुआ है। कानूनों का विरोध करने के लिए लाखों की संख्या में किसान (30...

houseplants

घर के अंदर पौधे उ...

पौधों को घर के सजावटी सामान के रूप में शामिल किया जाना चाहिए। घर के अंदर हरियाली कमरों को चमक के साथ-साथ खूबसूरती भी प्रदान करती है। इन पौधों की...

crop-prevention-hi

पक्षियों के नुक्...

पंजाब में मिलने वाले 300 किस्म के पक्षियों में से कुछ ही फसलों और फलों का और गोदामों, शैलरों और मंडियों में दाने को नुक्सान करते हैं। इस ब्लॉग के...

congress grass1

गाजर बूटी के नुकस...

गाजर बूटी भारत में 1960 के समय में मैक्सिकन गेहूं के साथ आई थी। यह नदीन देश के काफी रकबे में अपना बुरा प्रभाव छोड़ रहा है। इस नदीन को...

insects-prevention

घरों को कीड़ों से ...

घर के अंदर कई तरह के छोटे-छोटे कीड़े छिपे होते हैं जो कि हमारे जीवन को अप्रसन्न कर देते हैं। यह कीड़े हमारे भोजन पदार्थ को अशुद्ध कर देते हैं...

agriculture-problems-hi

किसान का सवाल – ...

भारत का इतिहास इसकी खेती कुशलता, उत्तम जलवायु स्थितियां और कुदरती स्त्रोतों की उपलब्धता के बारे में बताता है। भारत (जो अपनी धरती का सबसे अधिक भाग गेहूं, धान, कपास...

dog-care-hi

कुत्तों को भी गर्...

गर्मियों का मौसम कुत्ते और उसके पालक के लिए इक्ट्ठे बाहर समय बिताने या व्यायाम करने के लिए बड़ा अनुकूल है पर यहां इस बात का ध्यान रखने की जरूरत...

rainwater-harvesting-hi

जानिये फसलों के ल...

जब बात करें फसल उत्पादन की तो पानी महत्तवपूर्ण तत्व है। खेती में पानी की कमी ठहराव ला सकती है और पूरे विश्व की यह सच्चाई है। पानी की कमी...

locust attack hi

टिड्डी दल का हमला...

मनुष्य के लिए अगर कोई उद्योग सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, तो वह है खेतीबाड़ी उद्योग। हमें जीवित रहने के लिए भोजन की आवश्यकता होती है और इसे संसार भर...

agriculture sector

कोरोना वायरस के द...

जब से लॉकडाउन शुरू हुआ है, भारत में ज़िंदगी रूक सी गई है। इसने ना सिर्फ प्राइवेट सैक्टर को प्रभावित किया, बल्कि आर्थिक्ता और सेवाओं के क्षेत्र में सार्वजनिक सैक्टर...

farmer-app_hd

साल 2020 में आधुनिक ...

सूचना और संचार टेक्नोलोजी के आधुनिक स्त्रोतों की मदद  से खेती प्रबंधन और भी बेहतर बन चुका है जिससे उपज बढ़ने के साथ साथ क्वालिटी अच्छी होने में भी मदद...


कॉन्ट्रैक्ट फार...

कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक ऐसी व्यवस्था है जहां कृषि उत्पादों का उत्पादन और उनकी बिक्री एक कॉन्ट्रैक्ट के अधीन की जाती है जो कि किसान, आपूर्तिकर्ता और उत्पादक में होती है।...

जैविक खेती

जैविक खेती कैसे ह...

उत्तरी भारत और खास तौर पर पंजाब में साठवें दशक में आये गेहूं और धान के नए बीजों और रासायनिक खादों और सिंचाई साधनों के विकास के कारण फसलों की...

मूल-अनाज

मूल अनाज की बिजाई...

मूल अनाज अक्सर पकने वाली फसलों के रूप में उगाया जाता है, जहां अन्य फसलें प्रतिकूल मौसम के कारण विफल हो जाती हैं। मूल अनाज अच्छी तरह से सूखा दोमट...

कीटनाशक

किसानो की आमद को ...

किसानों के घर में गाय मूतर और गोबर आम ही होता है जिसका प्रयोग वह कीटनाशक बनाने में कर सकते हैं और इसका रिजल्ट भी बढ़िया मिलता है। इसके अलावा...

कीटनाशक

जैविक कीटनाशक कै...

खेती लागत में हो रही वृद्धि के कारण किसानों के लिए घाटे का सौदा बनती जा रही है जिसमें सबसे ज़्यादा किसानों का खर्च कीटनाशक और नदीन नाशक पर होता...

खारे-पानी

क्यों होता है खार...

पंजाब के तकरीबन 40 प्रतिशत रक्बे में ट्यूबवैल से प्राप्त किए भूमिगत पानी में नमक की मात्रा काफी ज्यादा है। ऐसा पानी लवण सोडियम क्लोराइड या सल्फेट वाले या खारे...

खाद

जानिए कैसे बढ़ाती ...

जैविक खाद: जैविक खाद फसलों को खुराक देती है, मिट्टी के जैविक मादे को बढ़ाती है, सूक्ष्म जीव जंतुओं में वृद्धि करती है और ज़मीन द्वारा नमी को संभालने में सहायक करती है।...

आंवला और एलोवेरा

जानिए क्या है आंव...

भारत देश में औषधीयों का भंडार भरा हुआ है। देश के हर जगह पर हमें आम ही यह औषधीयां जिन्हें हम दवाइयों के तौरपर भी जानते हैं। इनमें से ही...

Fenugreek hindi

सेहत के लिए क्या ...

देश में पाई जाती विभिन्न तरह की सब्जियों की अपनी-अपनी पहचान होती है। आमतौर पर हरी सब्जियों को बढ़िया और गुणकारी माना जाता है। हर एक हरी सब्जी आमतौर पर...

क्यों ज़रूरी है अम...

यह खेती की प्रणाली वातावरण और मानव समाज को साथ में खुशहाल बनाती है और व्यक्ति को आर्थिक और सामाजिक समानता, खुशहाली, आज़ादी प्रदान करती है।जिससे हवा, पानी और ज़मीन...

decomposer

कृषि अवशेष अपघटक ...

एक शीशी से 30 दिन में 1 लाख मैट्रिक टन से जैविक अवशेष को अपघटित करके खाद तैयार की जा सकती है। बनाने की विधि • एक ड्रम या टैंकी...

organic manure

वर्मीकंपोस्ट तै...

• बैड पर ताजा गोबर नहीं डालना चाहिए क्योंकि यह गरम होता है। इससे केंचुएं मर जाते हैं। • बैड में नमी, छाया, 8 से 30 डिग्री तक तापमान तथा...